जीवन की समस्याओं का समाधान

रोज की तरह आज भी रमेश नदी के किनारे टहल रहा था तभी उसने देखा की एक जगह बहुत सी भीड़ जमा है रमेश ने वहाँ जाकर देखा की एक लड़का डूब रहा है रमेश ने जैसे ही एक डूबता हुए लड़के को देखा तो वह तुरंत बिना कुछ सोच – विचार किये नदी में कूद गया और अपनी जान पर खेल कर उसे बचा लाया परंतु जब उसने किनारे पर लाकर देखा तो रमेश हैरान रह गया वह कोई और नहीं बल्कि रमेश के बचपन का दोस्त सुनील था ।

रमेश ने जल्दी से उसके पेट से पानी निकाल और उसके सेवा की कुछ ही देर में सुनील को होश आ गया ।

और होश में आने पर ।

सुनील ने कहा – दोस्त रमेश तुमने मुझे क्यों बचा लिया । मुझे मर जाने दिया होता में अपनी जिंदगी से बिलकुल हर चूका हूँ और अब मुझे अपने जीवन में कोई आशा की किरण नजर नहीं आती । कभी कभी लगता है कि भगवान् ने मुझे गलती से इन्सान का जनम दे दिया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here