यही तो हमारी सबसे बड़ी समस्या हैं।
यही तो हमारी सबसे बड़ी समस्या हैं।

हीरा ने अपने खेत में मक्का बो रखी थी । वह दिन भर मक्का की  रखवाली करता था । उसकी पत्नी दोपहर को उसके के लिये खेत पर ही खाना लेकर जाती थी एक दिन उसकी पत्नी बीमार हो गयी  किसी कारण से हीरा की माँ को उसके लिये खाना ले जाना था ।

हीरा की माँ खाना लेकर खेतों की तरफ चल दी रास्ते में उसे एक और औरत मिली जो अपने पति के लिये खाना लेकर जा रही थी ।

दोनों रास्ते में बाते करने लगी । हीरा की माँ को खेतों पर आये बहुत दिन हो गये थे इस कारण वह अपने खेतों की पहचान नही कर पा रही थी और वह बार – बार मक्का के खेतों की बड़ाई कर रही थी ।

हीरा की माँ ने दूसरी औरत से कहा – इतनी अच्छी मक्का की फसल मैंने अपनी जिंदगी में आज तक नहीं देखी । यकीन से इन खेतों में आम खेत के मुकाबले दुगनी फसल होगी काश मेरे बेटे की फसल भे इतनी ही अच्छी हो ।

इस पर दूसरी औरत ने कहा बहन ये खेत तुम्हारे हैं और यह फसल भी तुम्हारी है ।

यह सुनकर हीरा की माँ बोली – तभी तो मैं कहूँ की यह मक्का के पेड़ इतने दूर – दूर क्यों हैं ?

मुझे लगता है कि यह तो ठीक तरह से पक भी नहीं पाएगी ।

 

इस पर दूसरी औरत ने कहा – बहन इस पर दूसरी औरत ने कहा कि बहन यही तो हमारी सबसे बड़ी समस्या हैं।

कोई भी चीज या साधन जो दूसरे के पास होता हैं हमे बहुत अच्छा लगता हैं और हम सोचते हैं कि यह बहुत अच्छा और महवपूर्ण हैं

परन्तु जब वहीँ चीज हमारे पास होती हैं तो हम उसका काम नही ले पाते हैं और उसकी कीमत नही समझ पाते हैं यदि हम अपने पास की सभी चीजों का सही और सावधानी से प्रयोग करे तो आसानी से खुश और सम्पन्न रह सकते हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here