Bhagat Singh quotes in Hindi

हेल्लो दोस्तों भारत के इतिहास में भगत सिंह का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा है आज भी भगत सिंह को याद करके हर भारतीय के खून में जोश भर आता है आज भी न केवल युवा अपितु हर किसी के मन में आज भी जिन्दा है इसलिए आज हम अमर भगत सिंह के कुछ विचार आपके साथ शेयर कर रहे हैं

“किसी भी इंसान को मारना आसान है, परन्तु उसके विचारों को नहीं। महान साम्राज्य टूट जाते हैं, तबाह हो जाते हैं, जबकि उनके विचार बच जाते हैं।”


“राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है। मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आजाद है।”

“क्रांति मानव जाति का एक अपरिहार्य अधिकार है। स्वतंत्रता सभी का एक कभी न ख़त्म होने वाला जन्म-सिद्ध अधिकार है। श्रम समाज का वास्तविक निर्वाहक है।”

“कोई भी व्यक्ति जो जीवन में आगे बढ़ने के लिए तैयार खड़ा हो, उसे हर एक रूढ़िवादी चीज की आलोचना करनी होगी, उसमें अविश्वास करना होगा और चुनौती भी देना होगा।”

“क्रांति लाना किसी भी इंसान की ताकत के बाहर की बात है। क्रांति कभी भी अपने आप नही आती। बल्कि किसी विशिष्ट वातावरण, सामाजिक और आर्थिक परिस्थितियों में ही क्रांति लाई जा सकती है।”

“मैं एक इंसान हु और जो कुछ भी इंसानियत को प्रभावित करता है उससे मुझे मतलब है।”
“देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते है।”

“क्रांति की तलवार विचारो की शान से तेज़ होती है।”

“जिंदगी तो अपने दम पर ही जी जाती है…दूसरो के कंधे पर तो सिर्फ जनाजे उठाये जाते है।”

“प्रेमी, पागल और कवी एक ही चीज़ से बने होते है।”


“जिंदगी का उद्देश्य अब दिमाग को नियंत्रित करना नही बल्कि उसके साथ तालमेल बिठाना है, मुक्ति पाना नही बल्कि उसका बेहतरीन उपयोग करना है”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here