Moral Story in Hindi, Moral Story in Hindi for Kids, Moral Story in Hindi Short, Moral values story in Hindi,

Moral values story in Hindi

दोस्तों हम आपके लिए लाए हैं एक प्रोफ़ेसर और स्टूडेंट की बहुत ही अच्छी Moral values story in Hindi अच्छे समाज और का निर्माण कैसे किया जा सकता है
एक दिन कॉलेज में प्रोफेसर ने विद्यर्थियों से पूछा कि इस संसार में जो कुछ भी है उसे भगवान ने ही बनाया है न?

सभी ने कहा, “हां भगवान ने ही बनाया है।“

प्रोफेसर ने कहा कि इसका मतलब ये हुआ कि बुराई भी भगवान की बनाई चीज़ ही है।

प्रोफेसर ने इतना कहा तो एक विद्यार्थी उठ खड़ा हुआ और उसने कहा कि इतनी जल्दी इस निष्कर्ष पर मत पहुंचिए सर।

प्रोफेसर ने कहा, क्यों? अभी तो सबने कहा है कि सब कुछ भगवान का ही बनाया हुआ है फिर तुम ऐसा क्यों कह रहे हो?

विद्यार्थी ने कहा कि सर, मैं आपसे छोटे-छोटे दो सवाल पूछूंगा। फिर उसके बाद आपकी बात भी मान लूंगा।

प्रोफेसर ने कहा पूछो।”

विद्यार्थी ने पूछा , “सर क्या दुनिया में ठंड का कोई वजूद है?”

प्रोफेसर ने कहा, बिल्कुल है। सौ फीसदी है। हम ठंड को महसूस करते हैं।

विद्यार्थी ने कहा, “नहीं सर, ठंड कुछ है ही नहीं। ये असल में गर्मी की अनुपस्थिति का अहसास भर है। जहां गर्मी नहीं होती, वहां हम ठंड को महसूस करते हैं।”
Read more story
लाइफ में कड़वाहट कैसे दूर करे ?
रामकृष्ण परमहंस की सफलता का राज
योगेश को दादा जी की अनोखी सीख
सफलता का मन्त्र

प्रोफेसर चुप रहे।

विद्यार्थी ने फिर पूछा, “सर क्या अंधेरे का कोई अस्तित्व है?”

प्रोफेसर ने कहा, “बिल्कुल है। रात को अंधेरा होता है।”

विद्यार्थी ने कहा, “नहीं सर। अंधेरा कुछ होता ही नहीं। ये तो जहां रोशनी नहीं होती वहां अंधेरा होता है।

प्रोफेसर ने कहा, “तुम अपनी बात आगे बढ़ाओ।”

विद्यार्थी ने फिर कहा, “सर आप हमें सिर्फ लाइट एंड हीट (प्रकाश और ताप) ही पढ़ाते हैं। आप हमें कभी डार्क एंड कोल्ड (अंधेरा और ठंड) नहीं पढ़ाते। फिजिक्स में ऐसा कोई विषय ही नहीं। सर, ठीक इसी तरह ईश्वर ने सिर्फ अच्छा-अच्छा बनाया है। अब जहां अच्छा नहीं होता, वहां हमें बुराई नज़र आती है। पर बुराई को ईश्वर ने नहीं बनाया। ये सिर्फ अच्छाई की अनुपस्थिति भर है।”

दरअसल दुनिया में कहीं बुराई है ही नहीं। ये सिर्फ प्यार, विश्वास और ईश्वर में हमारी आस्था की कमी का नाम है। जैसे दीपक के आते ही अँधेरा भाग जाता है वैसे ही अच्छाई के सामने बुराई कभी नहीं टिक सकती है इसलिये दोस्तों हमें अपने आस पास हमेशा प्यार ,सदभावना ,खुसी , हँसी ,अपनापन , बांटते रहना चाहिए और जो भाई अँधेरे और बुराई के रास्ते पर चल पड़े है उन्हें भी अच्छाई और प्यार के रास्ते पर लाने की कोशिश और पहल करते रहना चाहिए ।

ज़िंदगी में जब और जहां मौका मिले अच्छाई बांटिए। इससे हमारा मन तो खुश रहेगा ही साथ के साथ समाज में हर तरफ एक प्यार और अच्छाई का माहौल बनेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here