self improvement story

दोस्तों आज हम आपके साथ में

 Self Improvement पर एक True Story Share करना चाहाते है।

पूजा की अक्सर अपने दोस्तों और किसी ना किसी से daily बहस हो जाती थी। और जब पूजा का बहुत ज्यादा दिमाग खराब हो जाता या बहुत stress में होती,तो वह अपनी माँ संगीता के पास जाती और अपनी परेशानी share करती थी।

पूजा हमेशा यही सोचती थी की माँ की किसी से कभी भी लड़ाई नही होती हैं।और वह हमेशा सभी के साथ खुश रहती हैं।ऐसा कैसे हो सकता हैं?

आज जब पूजा ने अपनी माँ से अपनी problem share की तो माँ ने कहा तुम्हे मेने कितनी बार कहा हैं।

की तुम Self Improvement करो ।

पूजा ने कहा self improvement से क्या फायदा होगा।

इससे लोग तो नही सुधर जायेंगे।वो तो फिर भी मुझसे से झगड़ा करेंगे।

माँ ने कहा चलो बेटी बाजार चलते हैं।वही पर तुमारी बात का जवाब दूँगी। पूजा और उसकी माँ स्कूटी पर बाजार जाने लगें।

सड़क बड़ी ही ख़राब और गहरे गड्डो  से भरी हुयीं थी। पूजा उन गड्डो से बचा बचा कर स्कूटी चला रही थी।जब वे दोनों बाजार पहुँच गये तो।

पूजा की माँ ने कहा तुम स्कूटी को गड्डो से बचा कर क्यों लाई।

पूजा- माँ  यदि में गड्डो में से स्कूटी को लाती तो वह टूट जाती और खराब भी हो सकती थी।इसमे हमारा ही नुकसान था।

यह सुनकर पूजा की माँ ने कहा  बेटी यही बात हमारे ऊपर भी लागू होती हैं।

हमारी ज़िन्दगी भी सड़क की तरह है। जिसमे गड्ढे रूपी लोग आयेंगे जो हमारी बुराई करेंगें और हमे आगे बढ़ने से रोकेंगे।परन्तु हमे उस से बचकर निकलने और अपने जीवन में Success पाने के लिये

Self Improvement आवश्यक होती हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here