Self improvement story
Self improvement in hindi

Self Improvement story in Hindi
युद्ध जीतने पर अब्रीहिम लिकन को बहुत सी बधाई मिल रही थी । एक दोपहर जब वो Free time में किसी महान व्यक्ति की जीवनी पढ़ रहे थे । उनकी अलमारी में बहुत सी self improvement सुधार, biography की किताबें रखी थी तभी उनसे मिलने एक मेयर आया जो उनका दोस्त भी था । जब उन्होंने लिंकन को biography पढ़ते देखा तो उन्हें बहुत अजीब सा लगा उन्होंने कहा लिकन आप तो अपने समय के एक महान नेता है तुम्हारी कूट नीति व सूझ बूझ के तो देश विदेश के बड़े – बड़े नेता कायल है । तुम इन फालतू की किताबों में अपना समय क्यों बर्बाद कर रहे हो ?
लिकन – मेरे प्रिय दोस्त तुम्हारे लिए ये बेकार और फालतू की किताबें हो सकती हैं परंतु मैं आज जी कुछ भी हूँ उन सब में इन Self Improvement ( आत्म सुधार) और Biography की किताबों का बहुत बड़ा हाथ है ।
मेयर – कैसे ? मैं कुछ समझा नहीं ।
क्या तुम इसे थोड़ा डिटेल में बता सकते हो ?
लिंकन – जब भी मैं ऐसी कोई किताब पढ़ता हूं तो मुझे यह पता चलता है कि मेरे अंदर क्या कमी है जो मुझे पूरी करनी है और विभिन्न कठिन समय में सफल होने के लिए क्या निर्णय लिए थे और इससे मुझे अपने जीवन में दिशा मिलती है इसके साथ – साथ मुझे जब यह पता चलता है कि उन्होंने अपने जीवन में कितनी कठिनाई और दुखो का सामना किया था तो मेरे अंदर भी अपने दुखों और कठिन समय में सुख रहने की हिम्मत मिल जाती है और मई किसी भी बड़ी से बड़ी समस्या को भी आसानी से सुलझा सकता हूँ । एक और बात जी व्यक्ति जैसे लोगों के बारे में सुनता पढ़ता ,सोचता है वह वैसा ही बन जाता है । इसलिए मेरे दोस्त मैं आज भी self Improvement और बहुत सारी किताबें पढ़ता हूं । इन सब के कारण में अपने जीवन में सफल हो पाया हूं । मेरी नजर में जो भी आदमी अपने आप में सुधार Improvement
करना चाहता है उसे निरंतर सफल लोगों से प्रेरणा लेनी चाहिए ।

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here