Success Story In Hindi
Success Story In Hindi Team work story

Success Story In Hindi

जगमोहन एक धनी किसान था गाँव में भी उसकी बहुत इज्जत और दब दबा था । उसके पास काफी जमीन थी सभी उसकी इज्जत करते ।सभी सुविधा व सम्मान होने पर भी जगमोहन ख़ुशी नहीं था उसकी चिंता थी उसके बेटे सोनू और मोनू
दोनों बेटों की जरा भी नहीं बनती थी सोनू शरीर से बहुत ज्यादा बलशाली था
दूसरा मोनू दिमाग से बहुत तेज था दोनों आपस में हमेशा झगड़ते रहते थे दोनों भाई अपनी – अपनी काबलियत की तारीफ करते रहते थे
जगमोहन को यही चिंता रहती थी की लाइफ में कहीं जीवन भर वो झगड़ते न रहें जिससे वो अपनी योग्यता के अनुसार Success हासिल नहीं कर पाएंगे ।

एक दिन उनके पिता ने उन्हें खेत पर पशुओं से खेत की रखवाली करने के लिये भेजा था पशु खेत में चरने के लिये आये और नुकसान करने लगें तो सोनू बोला में अपनी ताकत से इन पशुओं को बहार निकाल कर आता हूं पर बहुत कोशिश करने पर भी नहीं निकाल पाया उसके बाद में मोनू ने में अपनी बुद्धि से इन पशुओं को बाहर निकाल कर आता हूं बहुत कोशिश करने के बाद भी मोनू पशुओं को बाहर नहीं निकाल पाया ।तभी उन्होंने देखा की उनके पिता खेत पर आ पहुँचें थे उनके पिता ने पशुओं को खेत से बहार निकाल दिया ।
वह उनसे बोले की तुम दोनों ही इन्हें बहार निकालने में नाकामयाब रहें क्योंकि सोनू ने केवल बल का प्रयोग किया और मोनू ने केवल बुद्धि का प्रयोग किया था।
Moral of The Story अगर हमें लाइफ में Success चाहिए तो उसके लिये हम बल तथा बुद्धि दोनों की ही जरूरत होती हैं तुम दोनों एक साथ होकर काम करोगे तो तभी तुम दोनों तरक्की करोगे ।

दोनों ही इस बात को समझ गये की एकता में बल होता हैं व् साथ मिलकर ही हर असम्भव काम को सम्भव किया जा सकता हैं ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here